अनूपपुर

ट्रेड यूनियन लीडर ने सीएमडी को लिखा पत्र श्रमिक हित में समस्याओं को दूर किए जाने की रखी मांग

अनूपपुर। मैनेजिंग कम डायरेक्टर साउथ इस्टर्न कोलफील्डस लिमिटेड एसईसीएल को कोयला मजदूर सभा द्वारा 76 सूत्रीय मांगों के समर्थन मे दी गई स्ट्राईक नोटिस 28 अक्टूबर के संदर्भ में क्षेत्रीय स्तर के मांग पत्र पर चर्चा न हो पाने के विषय में स्मरण पत्र ट्रेड यूनियन लीडर अख्तर जावेद उस्मानी के द्वारा प्रेषित किया गया है। अपने पत्र में इन मुद्दों पर ट्रेड यूनियन लीडर ने बातें रखी है। आश्रित नियोजन के अनुमोदन हेतु लंबित प्रस्तावों के अनुमोदन में हो रहे अत्याधिक विलंब के संबंध में कोयला मजदूर सभा के द्वारा 18 नवंबर ध्यान व्यक्तिगत रुप से भी आकर्षित किया गया था। कोयला मजदूर सभा ने सेवा काल में मृत हुये कर्मचारी के आश्रित को समय पर नौकरी न मिलने पर प्रति वर्ष सात लाख वेतन पाने के अवसर के अलावा मृत श्रमिक की सामाजिक सुरक्षा निधि से परिवार के जीवन यापन पर सालाना 4-5 लाख रुपये का व्यय जो शिक्षा और दवाई सहित होने वाला ब्यय के संबंध में भी जानकारी दी गयी थी। उच्च प्रबंधन के द्वारा यह आश्वासन भी दिया गया था कि मृत श्रमिकों के नियोजन के प्रस्तावों पर अनुमोदन में विलंब नही होगा और लाईफ कवर सकीम लाभ 15 दिनों में परिवार को प्राप्त हो जायेगा। 28 अक्टूबर को कोयला मजदूर सभा के द्वारा दी गई स्ट्राईक नोटिस के समय 200 मृत श्रमवीरों के आश्रितों की एसईसीएल उच्च प्रबंधन के समक्ष अनुमोदनार्थ प्रस्तुत की जा चुकी थी। कोयला मजदूर सभा को ज्ञात वस्तुस्थिति के अनुसार 18 अक्टूबर 2021 से 31 दिसंबर 2021 तक उच्च प्रबंधन के द्वारा 65 नियुक्तियों का अनुमोदन किया गया है,परंतु 31 दिसम्बर 2021 को भी अनुमोदन हेतु 165 से अधिक फाईलों लंबित है। जो 65 प्रकरण अनुमोदित हुये है उसमें प्रकरण कितने दिन से लंबित है इसका ध्यान नही रखा जा सका है और 2019 में मृत श्रमिकों के प्रस्तावों को पहले अनुमोदित न कर के 2021 के प्रस्तावों को अनुमोदन दे दिया गया है जिससे लंबे समय से ब्यथित आश्रित परिवार के साथ न्याय नही हो पाया है। साथ ही कोविड के संक्रमण के कारण मृत सभी श्रमिकों को भी आज तक नियुक्ति हेतु अनुमोदन नही मिल पाया है। आश्रित नियुक्ति का अनुमोदन का अधिकार सीएमडी को है और आश्रित परिवारों की दुर्दशा को उचित मंच तक प्रस्तुत करने का प्रयास कोयला मजदूर सभा लगातार कर रही है। कोयला मजदूर सभा को यह दृढ़ विश्‍वास है कि उपरोक्त बैठक मे दिये गये अनेकों आशवासन यथा आश्रित श्रमिकों की नियुक्तियों के 165 से अधिक लंबित प्रकरणों पर निर्णय/अनुमोदन और मृत श्रमिकों को लाईफ कवर स्कीम लाभ 15 दिनों में प्रदान करने का आदेश एसईसीएल के मुखिया के द्वारा प्राथमिकता से जारी किया जायेगा।

Related Articles

Back to top button
Mirror Live
Close